24.7 C
New York
July 25, 2024
Nation Issue
उत्तरप्रदेश

उप्र निकाय से 2024 के लोकसभा चुनाव की स्क्रिप्ट लिखती योगी सरकार

लखनऊ

उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव का माहौल है, लेकिन सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसके जरिए 2024 लोकसभा चुनाव की स्क्रिप्ट लिखते नजर आ रहे हैं। महज 7 दिनों में ही की गईं 19 जनसभाओं में उन्होंने 'माफिया', 'अपराधी', 'दंगा', 'गुंडा', 'तमंचा', 'सफाई' जैसी बातों का जमकर जिक्र किया। खास बात है कि करीब 15 दिन पहले ही हुई माफिया डॉन अतीक अहमद की हत्या के बाद सियासी माहौल भी गर्म है। इसके अलावा नजरें मुख्तार अंसारी पर भी टिकी हुई हैं।

लगातार सीएम आदित्यनाथ मंच से यह बताने में जुटे हैं कि कैसे भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने अपराध को खत्म करने का काम किया है। साथ ही इस दौरान वह माफिया के नाम लेकर समाजवादी पार्टी को भी घेर रहे हैं। 24 अप्रैल को सहारनपुर, शामली और अमरोहा में सीएम ने तीन जनसभाएं की। इस दौरान शामली में उन्होंने कहा कि लोगों को लगा होगा कि केवल माफिया और अपराधी ही नहीं, बल्कि उनके हमदर्द भी गायब हो गई हैं।

अमरोहा में सीएम आदित्यनाथ ने कहा, 'हमने भी ढोलक बजाकर माफिया को रसातल में पहुंचाने का काम किया है।' खास बात है कि अमरोहा ढोलक के लिए मशहूर है। सहारनपुर में उन्होंने कहा, 'न कर्फ्यू, न दंगा, यूपी में सब चंगा।' राज्य में निकाय चुनाव के लिए 4 और 11 मई को मतदान होगा। 13 मई को मतगणना होगी।

25 अप्रैल को वह रायबरेली, उन्नाव और लखनऊ पहुंचे। यहां वह लगातार उन्होंने अपनी 'बुलडोजर बाबा' की छवि को बरकरार रखा। रायबरेली में उन्होंने कहा, 'माफिया कहता है कि बख्श दो, ठेला लगाकर जी लूंगा।' उन्नाव में उन्होंने कहा कि कैसे एक विशेष पार्टी से जुड़े हुए लोग 2017 से पहले तमंचे लहराते थे।

27 अप्रैल को मथुरा, फिरोजाबाद और आगरा में भी सीएम के सुर इसी तरह रहे। उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार की एक ही युक्ति, अपराधी और गंदगी से मिले प्रदेश को मुक्ती।' आगरा में उन्होंने कहा कि शहर के युवाओं के हाथ में अब टैबलेट होते हैं, तमंचे नहीं। 28 अप्रैल को उन्होंने सीतापुर, लखीमपुर, बलरामपुर और गोरखपुर का दौरा किया। सीतापुर में उन्होंने माफिया, अपराधियों और भ्रष्टाचारियों को राक्षसों का चेहरा बताया।

अतीक और मुख्तार का जिक्र
यूपी भाजपा भी सोशल मीडिया पर माफिया और अपराधियों का मुद्दा जमकर उठा रही है। पार्टी सपा और अतीक और मुख्तार जैसे अपराधियों के बीच तार दिखा रही है। भाजपा का कहना है कि अपराधी ही अखिलेश की वापसी चाहते हैं।

अखिलेश ने साधा था निशाना
सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को गोरखपुर में प्रचार के दौरान भाजपा सरकार पर कानून व्यवस्था और सफाई के मुद्दे पर सवाल उटाए थे। उन्होंने कहा था, 'लोग राज्य में आपराधिक घटनाओं से तंग आ चुके हैं। बलात्कार और चोरियों की घटनाएं अपने चरम पर हैं।' साथ ही उन्होंने दावा किया कि भाजपा बीते 6 सालों में कचरा हटाने में असफल रही है।

 

Related posts

यमुना एक्प्रसेवे फिल्म सिटी विकसित करने को बदले नियम, इन 3 सुझावों पर बनी सहमति

admin

इस बार 10 दिन लंबा होगा प्रयागराज माघ मेला, जिला प्रशासन ने शुरू की तैयारियां

admin

1988 बैच के आईएएस अफसर मनोज कुमार सिंह यूपी के नए मुख्य सचिव

admin

Leave a Comment