24.7 C
New York
July 24, 2024
Nation Issue
छत्तीसगढ़

CM भूपेश का बड़ा बयान बोले – अगर जरूरत पड़ी तो CG में भी बैन करेंगे बजरंग दल

रायपुर .

 मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज बड़ा बयान देते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश के बजरंगियों को ठीक कर दिया है। ज़रूरत पड़ी तो छत्तीसगढ़ में भी बजरंग दल को बैन करने का सोचेंगे। अभी कर्नाटक की समस्या के हिसाब से वहाँ बैन करने की बात कही गई है। बता दें कि कर्नाटक कांग्रेस के इस वादे से राजनीतिक तापमान और भी उबल पड़ा.

 बीजेपी समेत कई हिन्दूवादी संगठन और बजरंग दल ने भी इस वादे के लिए कांग्रेस की आलोचना की. बजरंग दल ने कहा कि वो एक राष्ट्रवादी संगठन है और इसकी तुलना पीएफआई जैसे प्रतिबंधित संगठन से करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है. बजरंग दल ने कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा कि बजरंग दल की देश और धर्म के प्रति निष्ठा की वजह से कांग्रेस और पीएफआई के आंखों की किरकिरी बना हुआ है.

 बजरंग दल इस मुद्दे को कर्नाटक समेत पूरे देश में जोर-शोर से उठा रही है और प्रदर्शन कर रही है.

कांग्रेस ने घोषणापत्र में क्या कहा था
कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणापत्र में कहा कि पार्टी ऐसे संगठनों पर कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है जो कि समाज में घृणा की भावना फैलाते हैं और सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ते हैं, जाति और धर्म के आधार पर घृणा का सहारा लेते हैं। बजरंग दल और पीएफआई जैसे संगठनों द्वारा संविधान और कानून का उल्लंघन नहीं होना चाहिए।

बता दें कि कांग्रेस ने पहली बार बजरंग दल को बैन करने की बात नहीं कही है। इससे पहले 2008 में यूपीए सरकार के दौरान कांग्रेस ने बजरंग दल पर बैन लगाने की बात कही थी। 1992 में बाबरी मस्जिद के ढहाए जाने के बाद भी बजरंग दल पर बैन लगाया गया था। हालांकि इस केस में सनवाई के लिए ट्राइब्यूनल बनाए जाने के बाद बैन हटा लिया गया था।

भाजपा ने लपक लिया मामला
भाजपा ने कांग्रेस के इस वादे वाले मुद्दे को लपक लिया है। अब इसके जरिए भाजपा उन लोगों को साधने की कोशिश कर रही है जो कि पार्टी की विचारधारा के आधार पर अब तक वोट देते हैं लेकिन वे इस बार भाजपा से संतुष्ट नहीं हैं। वीएचपी के प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा, कांग्रेस को इसका फल कर्नाटक चुनाव में भुगतना पड़ेगा।  

 

 

Related posts

आगामी खरीफ वर्ष में धान खरीदी के लिए मंत्रिमंडलीय उप समिति की बैठक 18 को

admin

ननकी राम कंवर का राजनीति से सन्यास लेने का दावा पूरा होगा : ठाकुर

admin

राजस्व पखवाड़ा: 88 राजस्व शिविरों में 57 सौ से अधिक आवेदनों का हुआ निराकरण

admin

Leave a Comment