1.3 C
New York
February 26, 2024
Nation Issue
विदेश

नेतन्याहू के लोगों को हटाने के निर्देश के बाद दक्षिणी गाजा पर हमले की आशंका तेज

नेतन्याहू के लोगों को हटाने के निर्देश के बाद दक्षिणी गाजा पर हमले की आशंका तेज

इजराइली हमले के बाद 15 लाख से अधिक फलस्तीनी लोग भागकर रफाह आ गए

गाजा स्थित अस्पताल से हमास के 20 आतंकी गिरफ्तार

रफाह
दक्षिणी गाजा पर हमले की आशंका इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के सेना को रफाह से जनता को हटाने के निर्देश के बाद तेज हो गई है। अबतक इजराइली हमले में 27,947 फलस्तीनी मारे जा चुके हैं।

इजराइल के अनुसार रफाह हमास का आखिरी गढ़ है और उसे इस्लामिक आतंकवादी समूह के खिलाफ अपनी युद्ध योजना को पूरा करने के लिए सेना भेजने की जरूरत है। अनुमान है कि गाजा व अन्यत्र स्थानों पर हुए हमले के बाद 15 लाख से अधिक फलस्तीनी लोग भागकर रफाह आ गए।

नेतन्याहू ने कहा कि रफाह में एक बड़े पैमाने पर ऑपरेशन की जरूरत है। उन्होंने सुरक्षा अधिकारियों से दोहरी योजना पेश करने के लिए कहा है, जिसमें नागरिकों की निकासी और हमास की बची आतंकी इकाइयों को ध्वस्त करने के लिए सैन्य अभियान शामिल होगा। इससे पहले, शुक्रवार को इजरायल ने रफाह में कई ठिकानों पर बमबारी की थी। यह हमला बाइडन प्रशासन के अधिकारियों और सहायता एजेंसियों द्वारा इजरायल को गाजा में हमले का विस्तार के खिलाफ चेतावनी देने के कुछ घंटे बाद हुआ। हवाई हमलों में रफाह में दो आवासीय इमारतों को निशाना बनाया गया, जबकि मध्य गाजा में दो अन्य स्थलों पर बमबारी की गई। इसमें 22 लोग मारे गए।

नेतन्याहू के इस आदेश के बाद मिस्र को भी चिंतित कर दिया है। उसने कहा है कि रफाह में कोई भी जमीनी कार्रवाई या बड़े पैमाने पर सीमा पार विस्थापन इजरायल के साथ उसकी 40 साल पुरानी शांति संधि को कमजोर कर देगा।

वहीं, इजराइली सेना ने कहा है कि बंदरगाह शहर हाइफा के पास एक संदिग्ध हवाई लक्ष्य को रोक दिया गया है। हाइफा और अशदोद के बंदरगाह इजराइल के व्यापार के लिए महत्वपूर्ण प्रवेश द्वार हैं। सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि कोई क्षति नहीं पहुंची है। इस बीच इजरायल के रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने चेक समकक्ष से मुलाकात की।

गाजा स्थित अस्पताल से हमास के 20 आतंकी गिरफ्तार

तेल अवीव
 इजराइली सुरक्षाबलों ने गाजा पट्टी के अल अमल अस्पताल से हमास के 20 आतंकियों को गिरफ्तार किया है। वहीं, इस मामले में इजराइली सुरक्षाबलों ने बयान जारी कर कहा, ''यह सभी हमास आतंकी अस्पताल में छुपे हुए थे। सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, गिरफ्तारी के दौरान अस्पताल के किसी भी काम में कोई बाधा उत्पन्न नहीं हुई।''

इजराइली सुरक्षाबलों ने कहा, ''इससे यह साफ साबित होता है कि हमास आतंकी अस्पताल को हमला करने के लिए अपने अड्डा के रूप में इस्तेमाल कर रहे थे।" सुरक्षाबलों ने कहा, ''अस्पतालकर्मियों से समन्वय स्थापित करते हुए सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया। किसी को नुकसान पहुंचाए बगैर सर्च ऑपरेशन किया गया। हालांकि, सर्च ऑपरेशन शुरू करने से पहले ही सैनिकों को निर्देश दे दिया गया था कि वो अपनी कार्रवाई के दौरान किसी भी मरीज, मेडिकल टीम, आम नागरिक और चिकित्सकीय उपकरण को किसी भी प्रकार का नुकसान ना पहुंचाए।"

सेना ने अपने बयान में कहा, ''हमास आतंकियों की गिरफ्तारी के बाद सैनिकों ने अस्पताल प्रबंधकों को दर्जनों ऑक्सीजन टैंक और अतिरिक्त चिकित्सकीय उपकरण महुैया कराए, ताकि उन्हें आगामी दिनों में किसी भी प्रकार की दुश्वारियों का सामना ना करना पड़े।"

 

 

 

Related posts

ब्रिटेन की कंपनी बनाएंगी खतरनाक पनडुब्बी

admin

भारतीय मूल के बैरिस्टर वरुण घोष ऑस्ट्रेलियाई सीनेट में नियुक्त, अगले सप्ताह में संभालेंगे

admin

गाजा में युद्धविराम पर आया यूएन में प्रस्‍ताव, अमेरिका ने किया खारिज, जानिए क्‍या रहा भारत का रुख

admin

Leave a Comment